घरेलु नुक्से

Blood Sugar Home Remedy: डायबिटीज को घर पर ही करें कंट्रोल

Aapki Health

Blood Sugar Home Remedy: हर बीमारी का इलाज आप की रसोई में ही

डायबिटीज (Blood Sugar Home Remedy) एक ऐसी बीमारी है, जिस को सही समय पर काबू कर लेना चाहिए अगर इस पर काबू नहीं पा पाए तो ये कई तरह की बिमारिओ को पैदा कर सकती है। जब शरीर में ठीक तरह से इंसुलिन का निर्माण नहीं होता, तो खून में शुगर का स्तर बढ़ जाता है। ऐसे में जरूरी है कि इसे समय रहते कंट्रोल किया जाए, क्योंकि इसके कारण गंभीर बीमारी भी उत्पन्न हो सकती हैं।

खून के शुगर को सही रखने के लिए सबसे अधिक घेरलू नुस्खे अपनाये जाते है जो शारीर के लिए हानिकारक भी नहीं है और लाभदायक भी सिद्ध होते है। खून शुगर को सही करने के लिए एलोपेथी, होमोपेथी, और्वेदी दवाई भी आती है। आज हम इस लेख के माध्यम से आप को बताने की कोशिश करेंगे की बड़ते शुगर को कैसे कंट्रोल कर सकते है और तंदरुस्त वियक्ति को शुगर जैसी बीमारी न हो।

रअसल जब व्यक्ति डायबिटीज की बीमारी से गुजर रहा होता है, तब उसके लिए अपने खानपान को नियंत्रित करने और रोजाना सुबह की सैर बहुत की जरुरी है। अगर हम अच्छी डाइट खाए तो शुगर लेवल बढ़ने से रोका जा सकता है। शुगर को कंट्रोल करने के लिए हमें किसी भी दवाखाना जाने की जरुरत नहीं है बल्कि हमारे घर में ही कुछ ऐसे पौधे होते हैं, जिनके पत्तों का इस्तेमाल से शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है, इतना ही नहीं सुबह-सुबह इन पत्तों के सेवन से BP बढ़ने की संभावना भी कई गुना कम होती है।

पुराने समय में मुनि वैद लोगो का इलाज जड़ी बूटी से किया करते थे जिस से फ़ौरन शारीर को आराम मिल जाता था और कोई और बीमारी भी नहीं लगती थी। बेशक युग बदल गया हो वो जड़ी बूटी आज भी हमारे घर की रसोई या घर के नजदीक लगे पोधे से मिल सकती है। चलिए जानते हैं कौन सी औषधि हैं जो घर की रसोई या पत्तियां हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती है।

इस के इस्तेमाल से होगा शुगर कंट्रोल

नीम के पत्ते (Leaves of the Neem tree):

नीम का पेड़ हर जगह आसानी से मिल जाता है, नीम को त्वचा संबंधी समस्याओं जैसे सूजन, बुखार आना और दांतों के दर्द आदि के लिए भी उपयोग में लाया जाता है। अगर आपको डायबिटीज है, तो आप रोजाना सुबह उठकर खाली पेट नीम के पत्ते चबाएं या फिर आप इससे जूस के रूप में भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

यह भी पढ़े :

ऑलिव के पत्ते (Olive leaves):

डायबिटीज रोगी अगर जैतून के पत्ते का सेवन करते हैं तो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। साथ ही जैतून के पत्ते चबाने से ब्लड प्रेशर रोगियों को भी काफी मदद मिल सकती है।

हल्दी दूध (Turmeric Milk):

कहते है कि अगर आप के शारीर में कही दर्द है या कोई गंभीर चोट लग गई हो तो उस चोट को जल्दी ठीक करने के लिए डॉक्टर हल्दी के दूध को पिने के सलाह देते है। हल्दी दूध के पीने से ब्लड शुगर को सही रखने में मदद कर सकता है।

व्यायाम (Exercise):

अगर आप रोजाना योग और व्यायाम करते है तो आप का ब्लड शुगर को कम करने में सहायक हो सकते हैं। लगातार व्यायाम करने से शरीर का खून का सर्कुलर सही होता है।

खाने में परिवर्तन:

अच्छा खाना खाने से ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है। बहार का खाना न खाए हो सके तो फल, सब्जियां, अखरोट, दालें आदि का सेवन करें।

पानी पीना: सही मात्रा में पानी पीने से ब्लड शुगर को कम किया जा सकता है।

मेथी दाना (Fenugreek Seeds):

मेथी के दाने से ब्लड शुगर को कम करने में सहायक हो सकते हैं। मेथी के दाने को सब्जी के साथ खाया जा सकता है। रात को मेथी दानों को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह उन्हें खाली पेट खाएं तो ये आप के शुगर लेवल को कम करने में सहायक होगा।

करी पत्ता (Curry leaf):

करी पत्ते में फाइबर एक ऐसा पोषक तत्व है जो पाचन को धीमा करता है जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहने में मदद मिलती है। यह इंसुलिन को भी बूस्ट करता है। शुगर के मरीज सुबह 8 से 10 पन्ते चबा सकता है या फिर करी पत्ते का जूस निकालकर पिए तो बहुत ही आचा रिजल्ट आ सकता है।

तुलसी के पत्ते (Basil leaves):

तुलसी को जड़ी बूटियों की रानी कहा जाता है और यह हमारे शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाती है और इसका पौधा लगभग हर घर में पाया जाता है। अगर तुलसी को खाली पेट पत्तों का सेवन टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर लेवर को कम करता है।

करेले का जूस(Bitter Gourd juice):

करेला ऐसा फल है जो आमतौर पर मिल जाता है अगर इस को कचा खाया जाए तो ये बहुत ही अधिक फायदेमंद रहता है। अगर हम करेले का जूस पिने बना कर पीना शुरू कर दे तो शुगर लेवल को कंट्रोल करता है और BP को भी सही रखता है. करेले शारीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है ये शुगर, बीपी और कई बिमारिओ को सही करता है।

इस लेख के माध्यम से आप को जानकारी देने की कोशिश की गई। इस के बारे में दी स्टेट हेडलाइंस इसकी कोई पुष्टि नहीं करता व जिमेवारी नहीं लेता है।

अपडेट के लिए पेज को सब्सक्राईब करें व FACEBOOK और TWITER को फॉलो करें।


Aapki Health

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button