जीवन शैलीघरेलु नुक्सेपुरानी बीमारियाँ

Fatty liver : क्या होता है फैटी लीवर, लक्षण व उपचार

Aapki Health

— ज्यादा तली हुई चीजों का खाना या फिर गलत चीजों का लगातार सेवन देता है Fatty liver causes

आप की हैल्थ टीम
चंडीगढ़ l
आम रूटीन के दिनों में बाजार से ज्यादा तली हुई चीजों का खाना या फिर गलत चीजों का लगातार सेवन करना हमारी सेहत पर काफी ज्यादा प्रभावित करता है। इस तरह के खानपान से जहां हमारी नींद प्रभावित होती है तो वहीं पर हमारी जीवनशैली में भी काफी ज्यादा बदलाव आ जाता है l जिसका प्रभाव सीधे तौर पर हमारे लीवर Liver पर पड़ता है l धीरे-धीरे लीवर पर पड़ रहे इस प्रभाव से स्वस्थ लीवर से फैटी लीवर (Fatty liver) में तब्दील होने लगता है। शराब के ज्यादा सेवन से लीवर ज्यादा प्रभावित होता है l परंतु ऐसा भी नहीं कहा जा सकता कि शराब नहीं पीने वालों का लीवर प्रभावित (Liver affected by alcoholics) नहीं होता है l जो लोग शराब नहीं पीते हैं उनको भी लगातार फैटी लीवर की समस्याएं (fatty liver problems) देखी जा रही है l

जब हमारा स्वास्थ्य लीवर फैटी लीवर में तब्दील होता है तो वह कई तरह के संकेत हमें देने लग जाता है l अगर हम उसकी पहचान नहीं करते तो यह आगे बढ़ते हुए कई बीमारियों को देना शुरू कर देता है l इसलिए फैटी लीवर की पहचान (Fatty liver diagnosis) करते हुए उससे छुटकारा पाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि फैटी लीवर (Fatty liver) ने सिर्फ आपके पेट को खराब रखेगा बल्कि शरीर में 200 से ज्यादा अलग-अलग बीमारियों को भी पैदा करने का काम कर सकता है। 

फैटी लीवर किसको कहते हैं ? (What is called fatty liver?)

हमारे शरीर के मुख्य अंगो में से लीवर एक सबसे अहम अंग होता है इसलिए लीवर को स्वस्थ रखना बहुत ज्यादा जरूरी होता है l आमतौर पर अधिक मात्रा में तलाब होना व्यवस्था वाला समान खाने से हमारा लीवर फैटी लीवर में तब्दील होना शुरू हो जाता है। अधिक मात्रा में वसा और फैट मिलने से लीवर की यह चारों तरफ फैल जाती है। कुछ समय पश्चात भी नहीं दे रही है वसा और फैट फाइब्रॉयड लीवर में तब्दील हो जाती है। लीवर की सतह पर लगातार फैट जमा होने से जिस अवस्था में लीवर पहुंच जाता है उसे Fatty liver कहा जाता है। फैटी लीवर में भी ग्रेड 1 और 2 होते है।

Read This also :-Yoga Asanas : योग के आसन और उनके प्रमुख लाभ l

मुख्यता : फैटी लीवर के लक्षण : – (Mainly symptoms of fatty liver)

  • Fatty liver होने से आपको तेजाब की सबसे ज्यादा परेशानी रहनी शुरू हो जाएगी।
  • फैटी लीवर भूख कम लगती है और कई केस में वजन भी बहुत तेजी से गिरने लगता है।
  • Fatty liver के चलते खून कम बनना शुरू होता है और आंखों में पीलापन भी आना लगता है।
  • पैरों में सूजन या फिर संपन्न आने की समस्या पैदा हो जाती है।
  • शरीर में फुर्ती वह ताकत नहीं रहती हमेशा ही थकान और कमजोरी का एहसास होने लगता है।
  • कब्ज की प्रॉब्लम पैदा हो जाती है और चेहरे से रंगत उड़ जाती है।

इलाज को लेकर सुझाव :- (Tips for treating)

आप Fatty liver के मामले में डॉक्टर की सलाह से इलाज शुरू करना चाहिए परंतु इसके साथ-साथ कुछ ऐसे परहेज भी रखनी चाहिए जो कि आपके फैटी लीवर को कम करने में आपकी बहुत मदद करते हैं। इन सुझाव को माने बिना दवाई का ज्यादा असर नहीं होता है l जिससे फैटी लीवर अगले ग्रेड की तरफ बढ़ना शुरू हो जाता है।

  • शराब का सेवन बहुत ज्यादा करना खतरनाक हो सकता है शराब तुरंत छोड़ दें या फिर बहुत ज्यादा कम कर दें।
  • रोजाना सुबह शाम एक्सरसाइज करने के साथ-साथ सैर पर जरूर जाए क्योंकि इसका सीधा असर आपके लीवर पर पड़ता है।
  • अपनी डाइट पर कंट्रोल रखते हुए वजन को कम करना शुरू कर दें क्योंकि ज्यादा वजन ही फैटी  लीवर को बढ़ावा देता है।
  • रोजाना की डाइट से तला हुआ और मसालेदार भोजन तुरंत बंद कर दें क्योंकि उसमें ज्यादा वसा होने के चलते आपक लीवर पर असर पड़ता है
फैटी लीवर से आगे बढ़ने वाली समस्याएं :- (fatty liver Problems)

अगर अगर आप फैटी लीवर को लेकर आज ही कंट्रोल करना शुरू नहीं करते हैं तो यह आगे जाकर फेलियर या फिर सिरोसिस लीवर (cirrhosis liver) में तब्दील हो सकता है। जिससे आपकी समस्या पहले से कई गुना ज्यादा बढ़ जाएगी और आपको परेशानी का सबब बन सकता है। इस लिए आज से ही फैटी लीवर की समस्या को देखते हुए इसके इलाज को शुरू करना चाहिए l

इलाज नहीं कराया तो हो सकती है कई बीमारियां :-

अगर आपने तुरंत फैटी लीवर का इलाज नहीं कराया तो आपको कई तरह की बीमारियों से जूझना पड़ सकता है l आमतौर पर शुगर होने का ज्यादा खतरा रहता है तो फैटी लीवर का असर दिल पर भी बहुत ज्यादा पड़ता है ऐसे में दौरे और स्ट्रोक का कारण भी बन सकता है। फैटी लीवर को ठीक करने के लिए यहां पर डॉक्टर द्वारा कई दवाइयां दी जाती है तो वहीं पर आयुर्वेदा में भी कई तरह का इलाज दिया जाता है इसलिए अपनी रोजाना खानपान की स्थिति को बदलने के साथ-साथ तुरंत इलाज की तरफ जाना चाहिए ऐसे में आप एक स्वस्थ लाइक पा सकते हैं। फैटी लीवर का इलाज नहीं करने से आपको आगे काफी ज्यादा परेशानियों से जूझना भी कर सकता है। 

फैटी लीवर से बचने के लिए ठीक करने के कुछ सुझाव, जिसे अपनाने से आपको होगा फायदा ?
Fatty Liver
  • अपनी रोजमर्रा जिंदगी में फलों को जरूर शामिल करें क्योंकि फलों को खाने से काफी ज्यादा फायदा होता है l शराब का सेवन बंद कर दें
  • दूध वाली चाय की जगह ग्रीन टी का सेवन करें इससे दीवार पर जमा हुआ पेट कम होगा
  • बाजार में मिलने वाले जंक फूड व तली हुई चीजों को तुरंत बंद कर दें
  • अधिक से अधिक हरी सब्जियों का सेवन करना शुरू करें जिसमें पालक, ब्रोकली, तोरी, घिया  और हरे सलाद, खीरा आदि शामिल कर सकते हैं।
  • रोजाना खाने के साथ मक्खन, चिप्स, मिठाई, चीनी का सेवन कम कर दीजिये l
  • सफेद चना काली दाल राजमा का सेवन कम करें क्योंकि इससे पेट में गैस बनने के साथ-साथ अन्य प्रशासनिक खड़ी होती हैl

Disclaimer: यह लेख में सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के आधार पर दिया गया है और इस लेख को सिर्फ पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप नही लेना चाहिए । किसी भी तरफ की परेशानी और इस तरफ की समस्या के लिए अपने डॉक्टर से सलाह जरुर ली जाए l

ताजा ख़बरों को पढने के लिए यह करें क्लिक :- http://thestateheadlines.com/


Aapki Health

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button